भाजपा ने राजस्थान में 44 लाख नौकरी देने का ट्वीट करके बेरोजगारों के जख्मों पर नमक छिडकने का काम किया है : पायलट

जयपुर, 10 नवम्बर। राजस्थान प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष श्री सचिन पायलट ने प्रदेश भाजपा के ट्वीटर हैंडल के माध्यम से जारी 44 लाख नौकरियां देने वाले बयान को तथ्यहीन एवं गैर जिम्मेदाराना बताया है।

श्री पायलट ने कहा कि मुख्यमंत्री तो पहले उन 15 लाख भाग्यशाली बेरोजगारों की सूची सार्वजनिक कर दें जिन्हें गत् 59 महिनों में नौकरी दी गई है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री बतायें कि शेष 29 लाख नौकरी किनको दी गई है। उन्होंने भाजपा के इस बयान को प्रदेश के युवाओं और बेरोजगारों की भावनाओं के साथ खिलवाड़ बताते हुए माफी मांगने की मांग की है। उन्होंने कहा कि एक तरफ तो अजीज प्रेमजी इंस्टिट्यूट ने पिछले पांच सालों में राजस्थान की बेरोजगारी दर के 3.2 प्रतिशत से 7.7 प्रतिशत तक बढने को लेकर चिंता व्यक्त की है, वहीं दूसरी तरफ भाजपा सरकार गलत बयानबाजी करके दावा कर रही है कि बेरोजगारी समाप्त हो गई है।

उन्होंने मुख्यमंत्री को सीएजी की रिपोर्ट देखने का अनुरोध किया है जिसमें कौशल विकास योजना की विफलता के उदाहरण देते हुए बताया गया है कि सरकार केवल 30 प्रतिशत प्रशिक्षणार्थियों को ही रोजगार दिला पाई है और अब तक केवल 2 लाख 95 हजार युवाओं को ही प्रशिक्षण मिला है, जो बताता है कि इस क्षेत्र में केवल 90 हजार बेरोजगारों को ही रोजगार मिल पाया है। उन्होंने कहा कि जहॉं तक आईटीआई से प्रशिक्षण लेने वालों को नौकरी का प्रश्न है, आईटीआई विभाग के आंकड़े कहते हैं कि पांच साल में केवल 22876 लोगों को ही नौकरी मिली है।

श्री पायलट ने भाजपा को चुनौती देते हुए कहा है कि वे 44 लाख नौकरियों का सम्पूर्ण विवरण सार्वजनिक करे या फिर गलत बयानबाजी के लिए प्रदेश के युवाओं व बेरोजगारों से माफी मांगे।

leave a comment