देश में अघोषित इमरजेंसी: मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत

देश में हालात ठीक नहीं है, देश में अभी अघोषित इमरजेंसी लगी हुई है, देश के प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने जो अपने मनमाने रवैये के चलते नोटबंदी का फैसला लिया उससे आम जनता को कहीं ना कहीं मुश्किलों का सामना करना पड़ा, ऐसे में अब देश की जनता के लिये यह फैसले की घड़ी है कि वह देश में एक मजबूत और सशक्त सरकार को चुने। भाजपा कांग्रेस से 70 सालों का हिसाब मांगती है, लेकिन कांग्रेस ने जो विकास कार्य कराया वह जनता के सामने है।

उक्त विचार मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत ने आज लोकसभा क्षेत्र राजसमन्द के डेगाना तथा सीकर लोकसभा क्षेत्र के नीमकाथाना में कांग्रेस प्रत्याशियों के समर्थन में आयोजित जनसभाओं को सम्बोधित करते हुए व्यक्त किये। इस दौरान श्री गहलोत ने शास्त्रों की एक उक्ति राम नाम सत्य है सत्य बोल्या गत है बोलते हुए कहा कि जनता यह फैसला कर ले कि कौन आज सच बोल रहा है और कौन झूठ बोल रहा है। इसका फैसला करके ही जनता वोट करे। उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी भाजपा की तरह झांसे नहीं देती है जो कहती है वो करके भी दिखाती है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने सबसे पहले प्रदेश में सरकार बनते ही किसानों का कर्जा माफ किया, बिजली की दरें नहीं बढ़ाने, पेंशन बढ़ाने के साथ-साथ फ्री दवा योजना में कैंसर, किडनी व हार्ट संबंधी दवाईयां फ्री करने का काम किया है।

श्री गहलोत ने कहा कि चुनावी दंगल में भाजपा सरकार राष्ट्रवाद के नाम पर खेल खेल रही है। देश की सेना जो हमारे देश की रक्षा करते हुए अपने प्राण न्यौछावर कर देते हैं उस सेना को यूपी के मुख्यमंत्री श्री आदित्यनाथ योगी ने मोदी सेना बताया जिससे देश की सेवा के लिये गये हुए उन सैनिकों के परिवार सहित देश के लोगों को काफी बुरा लगा है। राष्ट्रवाद पर वोट लेने वाली भाजपा सरकार के श्री नरेन्द्र मोदी ने जुमलेबाजी करते हुए दो करोड़ युवाओं को रोजगार देने के लिये कहा था लेकिन अभी तक युवाओं को रोजगार नहीं मिला, साथ ही उनके खाते में 15 लाख रूपये डालने के लिए कहा था जो आज तक किसी भी युवा के खाते में नहीं पहुॅंचा। उन्होंने कहा कि यह चुनाव देश का चुनाव है जनता अपने मत का प्रयोग सोच समझकर करे। उन्होंने कांग्रेस के इतिहास पर प्रकाश डालते हुए कहा कि 70 साल के कांग्रेस के कार्यकाल में देश ने जबरदस्त विकास किया है लेकिन प्रधानमंत्री श्री नेरन्द्र मोदी अपने 5 साल के कार्यकाल को ही विकास का कार्यकाल बताते हैं। उन्होंने प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी से कहा कि वे अपने 5 साल का लेखा-जोखा और फीड बैक दें और जनता से वोट मांगे ना कि मंदिर और धर्म के मुद्दों पर लोगों को गुमराह करके वोट मांगे।

जनसभाओं को चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री डॉ. रघु शर्मा ने सम्बोधित करते हुए कहा कि भाजपा लोकसभा चुनाव में बिखरी हुई है। यही वजह है कि प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री श्रीमती वसुंधरा राजे सिर्फ उन्हीं जगह चुनावी सभाओं में जा रही है, जहॉं पर उनके कहने पर प्रत्याशियों को टिकट दिये गये हैं। उन्होंने कहा कि अगर श्रीमती वसुंधरा राजे पार्टी के प्रति समर्पित है और पार्टी में पूर्ण रूप से एकता है तो वह राजसमन्द में उनकी प्रत्याशी श्रीमती दिव्या कुमारी के समर्थन में जनसभा करने क्यों नहीं आ रही है। पार्टी में आपसी कलह है और आपसी कलह भारतीय जनता पार्टी की हार का कारण बनेगी।

जनसभाओं में राजस्थान विधानसभा के पूर्व अध्यक्ष श्री दीपेन्द्रसिंह शेखावत, पूर्व मंत्री डॉ. जितेन्द्र सिंह, पूर्व मंत्री श्री घनश्याम तिवाड़ी, शिक्षा मंत्री श्री गोविन्दसिंह डोटासरा, विधायक श्री सुरेश मोदी, श्री वीरेन्द्र सिंह, पूर्व विधायक श्री रिछपाल मिर्धा, उप मुख्य सचेतक श्री महेन्द्र चौधरी, विधायक श्री विजयपाल मिर्धा, श्री चेतन डूडी, श्री जाकिर हुसैन गैसावत, श्री पी. एस. जाट, श्री भगवान सहाय सैनी, श्री सीताराम अग्रवाल, श्री सुभाष मील सहित बड़ी संख्या में कांग्रेस कार्यकता एवं आमजन उपस्थित थे।

leave a comment